हम पागल अच्छे है

हम पागल अच्छे है दुनियाँ के समझदार लोगों से.. हम अपने ख्वाब जरुर तोड़ते है पर किसी का दिल नही..

होती नहीं है

होती नहीं है मोहब्बत सूरत से, मोहब्बत तो दिल से होती है, सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी, कदर जिनकी दिल में होती है|

तुझे हक है

तुझे हक है, अपनी दुनिया में खुश रहने का, मेरा क्या है, मेरी तो दुनिया ही तु है..

महफ़िल में कुछ

महफ़िल में कुछ तो सुनाना पड़ता है; ग़म छुपा कर मुस्कुराना पड़ता है; कभी हम भी उनके अज़ीज़ थे; आज-कल ये भी उन्हें याद दिलाना पड़ता है।

अच्छे विचारों का अस

अच्छे विचारों का असर आजकल इसलिए नहीं होता क्योंकि लिखने और पढ़ने वाले दोनों यह समझते है कि ये दूसरों के लिए है !

ज़िन्दगी दो पल की

ज़िन्दगी दो पल की तो क्यों ना इसे इस तरह जिया जाये की जो भी मिले उसे ख़ुशी और बिछड़ने वाले के दिल में याद बन कर रह जाये |

मैंने दरवाज़े पे

मैंने दरवाज़े पे ताला भी लगा कर देखा है, ग़म फिर भी समझ जाते है की मैं घर में हूँ !!

मत किया कर

मत किया कर ऐ दिल, किसी से मोहब्बत इतना, जो लोग बात नही करते, वो प्यार क्या करेगे|

हम उसे छोड़ तो दें

हम उसे छोड़ तो दें , पर छोटी सी उलझन है…. सुना है सांसों को छोड़ देना मौत होता है|

मैं आया तो

मैं आया तो था पर मोहब्बतें, इश्क लेकर, यहाँ तो सब जख्मों के इलाज ढूंढ रहे हैं|