आओ कभी यूँ

आओ कभी यूँ भी मेरे पास कि, आने में .. लम्हा और जाने में ज़िन्दगी गुज़र जाए !!!!

सुना है लोग

सुना है लोग अफ़सोस से कहते है की कोई किसीका नहीं, लेकिन कोई यह नहीं सोचता की हम किसके हुए !

सिर्फ साँसों का

सिर्फ साँसों का चलने का नाम ही जिंदगी है, तो मेरा नाम भी जीने वालों में लिखना !!

आओ कभी यूँ भी

आओ कभी यूँ भी मेरे पास कि, आने में .. लम्हा और जाने में ज़िन्दगी गुज़र जाए !!!!

इश्क़ मरता कहाँ है

इश्क़ मरता कहाँ है यारों…. ये तो दो टुकड़ों में जिया करता है….!!

ख़ैर आदी है हम

मुझे लहज़े खफ़ा करते हैं तुम्हारे, लफ़्जों के तो ख़ैर आदी है हम….

अब अख़रने लगी थी

नज़दीकियाँ अब अख़रने लगी थी उन्हें… कुछ यूँ भी मैंने फ़ासलों से दोस्ती कर ली.

आदत पड गयी है

आदत पड गयी है सभी को , प्यार अब हर किसी को कहां होता है ?

प्यार कमजोर दिल से

प्यार कमजोर दिल से किया नहीं जा सकता! ज़हर दुश्मन से लिया नहीं जा सकता! दिल में बसी है उल्फत जिस प्यार की! उस के बिना जिया नहीं जा सकता!

दीवाना पूछता है

दीवाना पूछता है ये लहरों से बार-बार… कुछ बस्तियाँ यहाँ थीं बताओ किधर गईं…!!!