मशहूर होने का

मशहूर होने का शौक किसे है , मुझे तो मेरे अपने ही ठीक से पहचान लें , वही बहुत है ।

करे किसका एतबार

करे किसका एतबार यहाँ सब अदाकार ही तो है, और गिला भी किससे करे सब अपने यार ही तो है …

इत्तेफ़ाक़ से मिल जाते

इत्तेफ़ाक़ से मिल जाते हो जब तुम राह में कभी, युँ लगता है करीब से ज़िन्दगी जा रही हो जैसे !!

मौसम जो ये

मौसम जो ये थोड़ा खुश्क हो जायेगा…. न उलझिए हमसे जनाब, इश्क़ हो जायेगा….

जिन रिश्तों में

जिन रिश्तों में हर बात का मतलब समझाना पड़े,.. और,सफाई देनी पड़े वो रिश्ते रिश्ते नही बोझ हैं …

वक्त की राहें

वक्त की राहें और किस्मत के इरादे दोनों मेरे खिलाफ हैं; ऐ मेरे खुदा अब तुझको मेरा वकील बन जाना चाहिए|

मुझे कुछ लिखना

मुझे कुछ लिखना नही आता बस कुछ शब्दों को संजोकर एक ही नाम लिखना आता है|

हम उसे छोड़ तो दें

हम उसे छोड़ तो दें , पर छोटी सी उलझन है…. सुना है सांसों को छोड़ देना मौत होता है|

मोहब्बत के दरवाज़े…

मोहब्बत के दरवाज़े…लाख बंद कर लो.. हम तो हवा के झोंके से है…दरारों से भी आ जायेंगे|

काश..मैं भी पानी का

काश..मैं भी पानी का एक घूँट होता… तेरे होंठों से लगता और तेरी रग-रग में समा जाता|